Google Adsense Account को Disabled होने से बचाएं (10+ बेहतरीन उपाय)

Google Adsense Account के बारे मे उन सभी लोग को मालूम होगा, जो इन्टरनेट से जुड़े हुए है विशेष तोर से जो Blogger है, या किसी भी Blogging Platform पर है। आज मै आपको बताऊंगा कि अपने Adsense Account को Disabled होने से कैसे बचाएं? 

Blogging करने का मुख्य कारण अपनी Knowledge लोगो के साथ शेयर करना और कहीं न कही थोड़े  पैसे कमाना होता है, और सबसे Best तरीका Google Adsense मे अकाउंट Create करना होता है

हम जब Google Adsense अकाउंट बना लेते है, तो हमसे कुछ जाने अनजाने मे बहुत से ऐसे गलती हो जाती है जो GOogle  AdSense policies का उल्लंघन करते है।

हम सब जानते है Adsense Account approvel पाना आसान काम नहीं है and हमें बहुत सी चीजों का ध्यान भी रखना पड़ता है जिससे हमारा Adsense Account active बना रहें।

adsense account ko disable hone se bachayen
prevent getting adsense account disabled

Google Adsense समय समय पर अपनी  Adsense policy change करता रहता है और हम इन्हें नजरअंदाज करते हैं, जो की गलत बात है, यहीं हमसे बड़ी गलती हो जाती है और हमारे Google Adsense account बंद होने की वजह बन जाता है

तो दोस्तों, आज हम Google Adsense Account को Disabled होने से कैसे बचाए इन तरीको के बारे मे बात करते है।

Adsense Account Approve होने के बाद क्या न करे.?

हम सब कभी भी कोई ऐसा काम नही करते जिनके बारे मे हमे पूरी जानकारी नही होती ,टीक उसी तरह से हमे पहले एक बार Adsense Program Policies को पढना चाहिए।

नीचे मैंने कुछ simple गलतियों के बारे में बताया है, जिनसे Adsense publisher बचें, ऐसे आप का account ban नहीं हो। ये आपको Adsense TOS को समझने और Adsense Policies का उल्लंघन नही होने मे मदद करेगा।

01). Adsense का इस्तेमाल  Unsupported language के साथ करना:

Google अपने Adsense Programe मे सभी languages को support नहीं करता ,यदि आप के पास पहीले से ही Google द्वारा Approved Adsense account है और आपने अपने Ads को उन website पर लगा दिए है जो Adsense Programe  support languages मे  नहीं दिया गया है तो आप का account block हो सकता है, कभी भी ऐसा ना करे !

Adsense Supported language की List देखें।

02). Maximum Adsense unit on a single page:

Adsense ने पहले ही यह बता रखा है की  प्रति page कितने maximum number of ads प्रदर्शित किया जाए। लेकिन, आप ने गलती से अगर कुछ गलत कर दिया हो तब यह Adsense policies का उल्लंघन नहीं माना जायेगा and Adsense हर एक पेज पर only three ads से ज्यादा allow नहीं करता जब तक की आप premium Adsense publisher न बन जाए।

03). Altering the Adsense code:

Google Adsense किसी भी तरह से Adsense code को change या Modified करने की अनुमति नहीं देता है. मतलब Ads की जो Size गूगल ने बता रखी है उसका use करना चाहिए।

नोट : आपके लिए Responsive Ads का इस्तेमाल Best Option हो सकता है।

04). Invalid Clicks:

बहुत से Adsense publisher अपने friends को बोल देते है की वो Ads को अपने computer या कोई different I.P वाले computer के द्वारा click करें जिससे उनको फायेदा हो लेकिन अगर Adsense team को इस  activity के बारे में पता चलता है तो Adsense team उस account को disable कर देती है।

05). Sending Ads on Email:

बहुत से publisher Adsense Ads को ईमेल के द्वारा लोगो को भेजते है and कभी-कभी यह मेल viral भी हो जाता है और बार बार एक ही Ads पर क्लिक होने से गूगल को ये आसानी से पता चल जाता ,तो ये कभी ना करे क्यूंकि ये गूगल program policies के खिलाफ है।

06). Ads के लिए इन्हें भी देखें जैसे  label:

अक्सर बहुत से publisher रीडर को ads click करने के लिए आकर्षित करने के trick use करते रहते है जैसे क्लिक करें और देखें हॉट ,या प्रोत्साहित करने के लिए क्लिक करें , प्रोत्साहित करें. ये सब भी Adsense के पॉलिसी का उल्लंघन है।

07). Competitive contextual advertisement:

आप गूगल Adsense के साथ और भी ads नेटवर्क use कर सकते है लेकिन ये ध्यान रखें वे नेटवर्क भी Adsense TOS का पालन करते हों. Infolinks, Viglink. Kontextua etc जैसे कुछ ऐसे ही Ads नेटवर्क है जो AdSense के साथ use कर सकते है।

08). Images के साथ या अगल बगल मे use करना :

अगर आप गूगल Adsense Image Ads यूनिट को अपने ब्लॉग या वेबसाइट के image के बीच छुपा कर रखते हैया अगल -बगल मे जगह बनाते है और कोई इमेज की जगह आप के ads को click करें तो ये Invalid क्लिक होगा ,इससे आप का account ban हो सकता है।

Google के TOS कभी भी ये allow नहीं करता की उसके Image ads unit के साथ आप अपना भी Image adjacent करें।

09). Ads को Sticky बनाना:

अपने Adsense ads को कभी भी sticky न बनाए क्यूंकि इस तरह आप AdSense implementation policy के खिलाफ काम करते है.यदि आप Adsense ads को अपने साईट में Sticky तरीके से कभी भी प्रकाशित न करें।

10). Hosting Copyright content:

यदि आप अपने वेबसाइट पर Adsense ads लगायें हुए है और अपने website पर बहुत से कॉपीराइट content भी host कर रहें है जैसे की movie,song या अन्य torrent file,यदि आप ऐसा करते है तो गूगल Adsense बहुत जल्दी आपका Account ban कर सकता है।

Google Adsense कभी allow नहीं करता की कॉपीराइट Stuff के साथ आप उनके प्रोग्राम का इस्तमाल करें।

11). Site Who Distribute Illegal and Copyrighted Content:

यहाँ निचे दिए गए ऐसे कुछ content के example है जिसकी इज्जत Adsense Ads कभी Allow नहीं करता है :

  • Porn, Adult material (18+)
  • हिंसक सामग्री
  • Hacking/Cracking
  • Gambling/Casino
  • Pages selling Drugs, Alcohol (Beer or hard alcohol)
  • हथियार और गोला बारूद की बिक्री
  • Distribution of course work. Eg: Student essays
उपर दिए गए है ये बहुत ही कम उदाहरण है ध्यान रखें की इस टाइप के सामग्री आप के ब्लॉग में नहीं दिखाई दे वर्ना आप का Google Adsense Account बंद हो सकता है।

12). Click by Publishers :

बहुत से Publisher अपनी खुद की Ads पर क्लिक करते है जो कभी भी भूल कर नही करना चाहिए ,बहुत ब्लॉगर और वेबमास्टर्स ज्यदा एअर्निंग करने के लिए अपनी खुद की ऐड पर क्लीक करते है या अपने ब्लॉग रेडर से क्लिक करने को कहते है ,जो गलत है क्यूंकि Google Adsense अपने खुद की ads पर क्लिक करने की इज्जाजत नही देता है Adsense ऐसे अकाउंट को banned कर देता है।

13). Paid Traffic:

यदि आप अपने Adsense enabled वेबसाइट के लिए traffic खरीद रहे है तो यह भी Adsense TOS के खिलाफ है, आपको गूगल के Adsense landing page Quality guidelines को सही तरीके से पढ़ लेना और समझ लेना चहिए जिसमे आप को idea मिल जायेगा की गूगल आपके वेबसाइट से क्या – क्या expect करता है।

गूगल Adsense के अलावा अच्छे विज्ञापनदाता

14).Continuing Same Post :

अगर आप बार बार एक ही पोस्ट को अलग अलग नाम से पब्लिश करते है, लेकिन सारा कंटेंट एक ही होता है तो ये भी गलत है। कभी भी एक ही post बार बार न डाले क्यूंकि ये आपके Traffic और गूगल Adsense के उल्ट होता है जिसका खमियाजा आपको भुगतना पड़ेगा।

15).Long Interval Time Between Two Post :

हमे हमेसा अपना ब्लॉग Updated करते रहना चाहिए, कभी भी दो पोस्टों की बीच कभी भी बड़ा Gap नही होना चाहिए, क्यूंकि हर महीने Post करते रहने से ब्लॉग updated रहता है। अगर हम लगातार 3-4 महीने post नही करते है तो इसका प्रभाव Google Adsense पर भी पड़ता है।

16).No Traffic: 

गूगल का Google Adsense एक ऐसा Ads Platform है जो कम Traffic वेबसाइट को भी Approval दे देता है अगर वह Google Adsense के सभी policy’s को follow करता हो ,लेकिन कम ट्रैफिक और बिना किसी Traffic वाले Account को ये banned कर देता है।

Blogging Mistakes (and How to Fix Them) in Hindi

Blogging Friends आशा करता हूँ, की यह Post Google Adsense Account को Disabled होने से बचाएं जो की किसी भी Blog के लिए ध्यान देने वाली बातें हैं आपके लिए जरूर Helpful होगी।

इस लेख को पढ़ने के लिये धन्यवाद, आगे भी हम BytizeNotes Hindi पर कुछ और Make money And Blogging Post आपके साथ Share करेंगे अगर आपको मेरा यह पोस्ट अच्छा लगा तो कृपया Share करें। नीचे दिये गये बाक्स मे अपने विचार लिखिये ।

>

Leave a Comment

error: